Motivation shayari image good life person

Motivation Shayari image

Motivation Shayari image, motivation for success, positive social, spiritual Shayari image,  Shayari image, Shayari, positive quotation, success quotation, image, self-motivation, self quotation


Motivation shayari image





जो व्यक्ति परोपकार की भावना रखता है
उसकी विपदाएं स्वत नष्ट हो जाती हैं ।
उसे हर कदम पर सफलता मिलती है ।
अत व्यक्ति को परोपकार का भाव

अवश्य रखना चाहिए


jo vyakti paropakaar kee bhaavana rakhata hai usakee vipadaen svat nasht ho jaatee hain . use har kadam par saphalata milatee hai . at vyakti ko paropakaar ka bhaav avashy rakhana chaahie



यदि मदान्ध बुद्धि वाले मदमस्त
गजराज ने मद की इच्छा से आये हुए
भौरों को अपने विशाल कानों को
फड़फड़ाकर उड़ा दिया तो इससे उसी
के गण्ड स्थलों की शोभा नष्ट हुई ।
भोरे तो पुनः फिर विकसित कमल  
       वन में जाकर रहने लगते हैं ।


yadi madaandh buddhi vaale madamast gajaraaj ne mad kee ichchha se aaye hue bhauron ko apane vishaal kaanon ko phadaphadaakar uda diya to isase usee ke gand sthalon kee shobha nasht huee . bhore to punah phir vikasit kamal van mein jaakar rahane lagate hain



आठ तरह के लोग बड़े क्रूर स्वभाव के होते हैं
वे दूसरों के कष्टों की परवाह नही करते ये हैं
राजा , वेश्या , यम , अग्नि चोर , बालक ,
       याचक व ग्राम शत्रु 



.aath tarah ke log bade kroor svabhaav ke hote hain
ve doosaron ke kashton kee paravaah nahee karate ye hain raaja , veshya , yam , agni chor , baalak , yaachak va graam shatru


किसी बहुत बूढ़ी स्त्री को ,
जिसकी कमर झुक गई है ,
 देखकर कोई लड़का व्यंगबाण
छोड़ते हुए पूछता है - हे नव तरुणि
नीचे क्या देखती है  ढूँढ़ती है तेरा भूमि
पर के क्या गिर पड़ा हैं तेरा क्या खो गया है
इस व्यंगबाण को सुनकर बूढ़ी स्त्री बोली
अरे ओ मूर्ख ! तू नहीं जानता कि मेरा
यौवनरूपी मोती खो गया है 
( मैं उसी को ढूँढ रही है ) 



kisee bahut boodhee stree ko , jisakee kamar jhuk gaee hai , dekhakar koee ladaka vyangabaan chhodate hue poochhata hai - “ he nav taruni neeche kya dekhatee hai dhoondhatee hai tera bhoomi par ke kya gir pada hain tera kya kho gaya hai is vyangabaan ko sunakar boodhee stree bolee are o moorkh ! too nahin jaanata ki mera yauvanaroopee motee kho gaya hai
( main usee ko dhoondh rahee hai )





सभी जानते हैं कि सांप तुझसे लिपटे रहते हैं ,
तुझमें कांटे भी हैं तू वक्र भी है और
कीचड़ में उत्पन्न होती है तुझे पाना
आसान नहीं है । इतने अवगुण होने पर
भी तुझमें सुगंध जैसा गुण है इस सुगंध
के कारण ही तू सबको आकर्षित कर लेती है
भाव यह है कि यदि किसी में अनेक गुणों
के बावजूद भी यदि एक गुण है तो उस एक
गुण के कारण उसके शेष सभी गुण छिप जाते हैं 



sabhee jaanate hain ki saamp tujhase lipate rahate hain , tujhamen kaante bhee hain too vakr bhee hai aur keechad mein utpann hotee hai tujhe paana aasaan nahin hai . itane avagun hone par bhee tujhamen sugandh jaisa gun hai is sugandh ke kaaran hee too sabako aakarshit kar letee hai bhaav yah hai ki yadi kisee mein anek gunon ke baavajood bhee yadi ek gun hai to us ek gun ke kaaran usake shesh sabhee gun chhip jaate hain



भोजन करना , निद्रा लेना , भयभीत होना और मैथुन
मनुष्यो ( संतान उत्पन्न करना ) मनुष्यों और पशुओं की
ये चार बातें समान है । मनुष्यों में पशुओं की अपेक्षा
ज्ञान अधिक और विशेष होता है । ज्ञान से रहित मनुष्य
       पशुओं के समान ही है 


bhojan karana , nidra lena , bhayabheet hona aur maithun manushyo ( santaan utpann karana ) manushyon aur pashuon kee ye chaar baaten samaan hai . manushyon mein pashuon kee apeksha gyaan adhik aur vishesh hota hai . gyaan se rahit manushy pashuon ke samaan hee hai
Previous Post
Next Post
Related Posts